पांचवी बार मर्सिडीज के चालक लुइस हेमिल्टन बने फॉर्मूला-1 रेस के विश्व चैंपियन

मर्सिडीज के ब्रिटिश चालक लुइस हेमिल्टन फॉर्मूला-1 रेस के पांचवी बार विश्व चैंपियन बने।  मैक्सिकन ग्रैंड प्रिक्स में हेमिल्टन ने चौथा स्थान हासिल किया, जो उनके विश्व चैंपियन बनने के लिए काफी था। जीत के बाद हेमिल्टन ने इसे भयानक रेस करार दिया। क्योंकि जीत के लिए हेमिल्टन को खासा मशक्कत करनी पड़ी। हेमिल्टन ने तीसरे स्थान पर शुरूआत की और डैनियल रिकियार्डो को लाइन से बाहर कर दिया ।  वहीं उनके टीममेट वाल्टटेरी बोटास भी रेस ट्रेक पर संघर्ष करते दिखें।मैक्सिकन ग्रैंड प्रिक्स की रेस में हेमिल्टन का चौथा स्थान विश्व चैंपियन के खिताब के लिए पार्याप्त था। जुलाई के ऑस्ट्रियाई ग्रांड प्रिक्स के बाद ये प्रर्दशन सबसे खराब परिणाम चिह्नित किया गया।

Lewis Hamilton

हैमिल्टन ने रेस के बाद टीवी कर्मचारियों को बताया कि “यह एक भयानक दौड़ थी। हम संघर्ष कर रहे थे। मैं वास्तव में खुद को जनता में बहुत भावनात्मक होने की इजाजत नहीं देता हूं, लेकिन अभी मैं पूरे अनुभव से बहुत नम्र महसूस करता हूं। इस समय इसे महसूस करना बहुत मुश्किल है। निश्चित रूप से मैंने ऐसा सपना देखा है, लेकिन मुझे कभी भी नहीं लगता कि मैं पांच बार विश्व चैंपियन बन खड़ा रहूंगा।”

खिताब अपने नाम करने वाले तीसरे रेसर हैं बने लुइस हेमिल्टन

जुआन मैनुअल फेंगियो पहले रेसर थे जो पांच बार फॉर्मूला-1 रेस का विश्व चैंपियन बने। फेंगियो 1951,1954,1955,1956,1957 में फॉर्मूला-1 रेस का विश्व चैंपियन बने।  दुसरा नाम है माइकल शूमाकर का जिन्हें अब तक सात बार फॉर्मूला-1 रेस का विश्व चैंपियन बनने का खिताब हासिल किया है। लुइस हेमिल्टन फॉर्मूला-1 रेस में पंचवी बार विश्व चैंपियन बनने वाले विश्व के तीसरे रेसर हैं। 2008,2014,2015, 2017, 2018 में विश्व चैंपियन रहे।

You May Also Like

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *